-->

विज्ञान की प्रमुख शाखाएँ एवं उनके अध्ययन विषय

  • अरबोरीकल्चर — वृक्ष उत्पादन संबंधी विज्ञान
  • आरकोलाजी — पुरातत्व सम्बन्धित विज्ञान की शाखा है
  • आर्थोपीडिक्स — अस्थि उपचार का अध्ययन
  • इकोलोजी — जीव व पर्यावरण के बीच पारस्परिक सम्बन्धोँ का अध्ययन
  • इथेनोलोजी — विभिन्न संस्कृतियों का तुलनात्मक अध्ययन
  • इथेनोग्राफी — किसी विशिष्ट संस्कृति का अध्ययन
  • इथोलोजी — प्राणियोँ के व्यवहार का अध्ययन
  • इक्थियोलोजी — मत्स्य की संरचना , कार्यिकी इत्यादि का अध्ययन
  • एंटोमोलोजी — कीटों का वैज्ञानिक अध्ययन
  • एंथोलोजी — फूलो का अध्ययन

Major branches of science and their subjects of study


  • एग्रोस्टोलॉजी — घास का अध्ययन
  • एकोस्टिक्स — यह ध्वनि से सम्बन्धित विज्ञान है
  • एपीकल्चर— मधुमक्खियोँ के पालन का अध्ययन
  • एपीग्राफी— शिलालेख सम्बन्धी ज्ञान का अध्ययन
  • एरोनोटिक्स — वायुयान सम्बन्धी विज्ञान की शाखा है
  • एस्ट्रोनॉमी— खगोलीय पिण्डों का अध्ययन
  • एस्ट्रोलॉजी — मानव पर ग्रह – नक्षत्र के प्रभाव का अध्ययन
  • ऐक्रोबेटिक्स— व्यायाम सम्बन्धी विज्ञान की शाखा है
  • ऐस्ट्रोनोटिक्स— यह अन्तरिक्ष यानो से सम्बन्धित विज्ञान है
  • ऑरनीथोलॉजी— पक्षियों का अध्ययन

  • ऑस्टियोलॉजी— हड्डियों का अध्ययन
  • ओडोण्टोलोजी— दाँत व मसूङोँ का अध्ययन
  • ओरोलॉजी — पर्वतों का अध्ययन
  • ओप्टिक्स — प्रकाश के प्रकार व गुणोँ का अध्ययन
  • ओलिवोकल्चर— जैतून की कृषि का अध्ययन
  • ओलेरीकल्चर— सब्जियों की व्यापारिक कृषि
  • औनीरोलॉजी — स्वप्नों का अध्ययन
  • कार्डियोलोजी — ह्रदय की रचना तथा रूधिर कार्यविधि का अध्ययन
  • कीमोथेरैपी— रासायनिक यौगिको से कैँसर का उपचार किया जाता है
  • कैलोलॉजी — मनुष्य के सौन्दर्य का अध्ययन

  • कोस्मोलॉजी— ब्रहाण्ड का अध्ययन
  • कोस्मोलोजी— ब्रह्माण्ड के जन्म , विकास और विलोपन का अध्ययन किया जाता है
  • क्रायोजेनिक्स— निम्न ताप पर वस्तुओँ के गुणोँ और अन्य परिघटनाओँ का अध्ययन
  • जेनेटिक्स — जीवोँ के आनुवंशिक लक्षणोँ के पीढी दर पीढी हस्तांतरण की प्रकिया का अध्ययन
  • जेरेंटोलॉजी — बृद्ध ब्यक्तियों का अध्ययन
  • ट्राइबोलोजी— घर्षण एवं स्नेहक का अध्ययन
  • न्यूमिस्मेटिक्स — पुराने सिक्कों का अध्य्यन
  • न्यूमेरोलोजी — अंकोँ का अध्ययन
  • न्यूरोलॉजी — तंत्रिकाओं ( नाड़ी ) का अध्ययन
  • न्यूरोलोजी — तंत्रिका तंत्र का अध्ययन

  • पीसीकल्चर— मछलियों का व्यापारिक उत्पादन का अध्ययन
  • पेडागोजी — अध्यापन कला का अध्ययन
  • पैरासिटोलॉजी — परजीवी जीवो काअध्ययन
  • पैडोलोजी — मिट्टी का अध्ययन
  • पैथोलोजी — रोगोँ की प्रक्रति के कारण, उपचार आदि का अध्ययन
  • पैलिनोलॉजी — विभिन प्रकार के परागकणों का अध्ययन
  • पैरालोजी— स्पंजोँ का अध्ययन
  • पैलियोण्टोलोजी(पैलियोबॉयोलोजि) — जीवाश्मोँ का अध्ययन
  • पोमोलॉजी — फलों का अध्ययन
  • फ्रैनोलाजी— मष्तिष्क के विभिन्न भागो के क्रियाशीलता व् विक्षिप्तता का अध्ययन

  • फाइकोलोजी — शैवालोँ का अध्ययन
  • फिजियोग्राफी — प्राक्रतिक भूगोल का अध्ययन
  • फिलालोजी — भाषा की संरचना व् विकास व् इतिहास अध्ययन
  • फ्लोरीकल्चर — फूलों की कृषि
  • बायोकेमिस्ट्री — जीव शरीर की रासायनिक क्रियाओँ के अध्ययन सम्बन्धी विज्ञान की शाखा है
  • माइक्रोबायोलोजी — सूक्ष्म जीवों का अध्ययन
  • माइक्रोलॉजी — फफूंद एवं संबंधित विषयों का अध्ययन
  • मारफोलॉजी — जीव एवं भौतिक जगत् की आकारिकी का अध्ययन
  • नेरालॉजी — खनिजों का अध्ययन
  • टेरोलॉजी — वातावरण एवं संबंधित विषयों का अध्ययन

  • मेमोग्राफी — स्त्रियोँ के स्तनोँ की जाँच करने वाली चिकित्सा विज्ञान की शाखा है
  • मेमोलोजी — स्तनधारी जन्तुओँ का अध्ययन
  • मैरिकल्चर — समुद्री जीवों का उत्पादन
  • मोर्फोलोजी — पौधोँ की बाह्य संरचना का अध्ययन
  • मोलीक्यूलर — बायोलोजी आणविक स्तर पर जीवोँ की संरचना व कार्योँ का अध्ययन
  • लिथोलॉजी — चट्टानों एवं पत्थरो से संबंधित विषयों का अध्ययन
  • लेक्सिकोग्राफी — शब्द कोष का संकलन
  • विटीकल्चर — अंगूर की खेती का अध्ययन
  • साइकोलोजी — मनोविज्ञान का अध्ययन
  • साइटोजेनेटिक्स — जीव कोशिका और उसकी आनुवंशिक विशेषताओँ का अध्ययन

Post अच्छी लगी हो तो शेयर जरुर कीजिए।

Related Articals